भारी बारिश की वजह से दीवार गिरने से मुंबई के मलाड में 14, कल्याण में 3 और पुणे में 6 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

भारी बारिश की वजह से दीवार गिरने से मुंबई के मलाड में 14, कल्याण में 3 और पुणे में 6 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

मुंबई: Heavy Rain in Mumbai: मुंबई और आसपास के इलाकों में तीन-चार दिन से भारी बारिश जारी है. बारिश की वजह से मुंबई के मलाड और कल्याण में दीवार गिर गई. मलाड में दीवार गिरने से 14 और कल्याण में एक मासूम सहित तीन लोगों की मौत हो गई. कल्याण में एक स्कूल की दीवार दो घरों पर गिरी है. वहीं दूसरी ओर पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल बताए जा रहे हैं.

मलाड इलाके में रातभर मूसलाधार बारिश के कारण एक परिसर की दीवार ढहने से 14 लोगों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए. एनडीआरएफ के अधिकारियों ने बताया कि घटना देर रात करीब दो बजे हुई, जब पूर्वी मलाड इलाके के पिम्परीपाड़ा स्थित एक परिसर की दीवार ढह गई और पास की झुग्गियों में रहने वाले लोग उसकी चपेट में आ गए. एनडीआरएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘घटना की जानकारी मिलने के बाद राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की हमारी टीम श्वान दस्ते के साथ तुरंत घटनास्थल पर पहुंची. इसके अलावा दमकल विभाग की एक टीम और स्थानीय पुलिस भी स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए मौके पर मौजूद है.’

उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. उन्होंने कहा, ‘बचाव अभियान जारी है. घायलों को जोगेश्वरी के सदर अस्पताल और कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.’ इस बीच, मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद मुम्बई में मंगलवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया गया है.

बता दें मुंबई और महाराष्ट्र के कई इलाकों में रविवार से भारी बारिश जारी है. BMC कमिश्नर के मुताबिक बीते दो दिनों में ही 540 मिलीमीटर बारिश हुई है जो पिछले 10 सालों में सबसे ज़्यादा है. बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है, जिससे मुंबई की रफ़्तार थम सी गई है. कई जगह रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है, जिससे ट्रेनें धीरे चल रही हैं और कई रद्द कर दी गईं हैं. भारी बारिश का असर उड़ानों पर भी पड़ा है. मौसम विभाग ने अभी 5 जुलाई तक ऐसे ही बारिश होने की संभावना जताई है. बारिश से बिगड़ते हालातों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 2 जुलाई मंगलवार को सार्वजनिक छुट्टी का ऐलान किया है.

सिर्फ आपात सेवाएं ही चालू रहेंगी
महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि मूसलाधार बारिश होने और उससे रेल तथा सड़क परिवहन प्रभावित होने के कारण मुंबई में सिर्फ आपात सेवाएं ही चालू रहेंगी. भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद स्थानीय निकाय ने लोगों को घर से बाहर निकलने से बचने की सलाह दी है. राज्य सरकार के अधिकारिक प्रवक्ता बृजेश सिंह ने कहा, ‘भारी बारिश के कारण सड़कों और रेल की पटरियों पर पानी भर गया है। एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर आपात सेवाओं को चालू रखने का फैसला लिया गया है। हमने लोगों से अपील की है कि ऐसे हालात में वे घरों से बाहर ना निकलें।’

‘स्पाइसजेट’ का विमान रनवे पर फिसला
मूसलाधार बारिश के कारण जयपुर से आ रहा ‘स्पाइसजेट’ का एक विमान मुंबई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया. घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. घटना की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि घटना सोमवार रात करीब पौने बारह बजे हुई, जब जयपुर से मुंबई आ रहा ‘स्पाइसजेट’ का विमान एसजी6237 मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया था. सूत्रों ने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं. मुख्य रनवे को अस्थाई रूप से बंद कर दिया गया है. फिलहाल हवाई अड्डे के ‘सेकेंडरी रनवे’ से विमानों का परिचालन जारी है.

महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश की संभावना
कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में दक्षिण-पश्चिमी मानसून सक्रिय हो जाने के बीच मौसम विभाग ने सोमवार को कहा कि इन क्षेत्रों में अगले दो दिनों में कुछ स्थानों पर भारी से अत्यंत भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इसके साथ ही पुणे और आसपास के क्षेत्रों में दो और तीन जुलाई को हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है. बता दें, मुंबई में रविवार से ही भारी बारिश हो रही है और दो दिन में यहां 540 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. यह पिछले एक दशक में दो दिन की अवधि में हुई सर्वाधिक बारिश है

मुंबई नगरपालिका प्रमुख ने जलवायु परिवर्तन को ठहराया जिम्मेदार
मुंबई नगरपालिका के प्रमुख प्रवीण परदेशी ने काफी कम अवधि में मुंबई में इतनी ज्यादा बारिश और इसकी वजह से बनी बाढ़ की हालत के लिए जलवायु परिवर्तन और भौगोलिक स्थिति को जिम्मेदार ठहराया है. इस साल मानसून विलंब से आया जो कि पिछले 45 साल में सबसे धीमा था. देश की वित्तीय राजधानी में दो दिन में 550 मिमी बारिश हुई जो कि पिछले एक दशक में दो दिन में हुई सबसे ज्यादा बारिश है. परदेशी ने कहा, ‘जलवायु परिवर्तन हो रहा है। कभी भी दो दिनों में एक महीने के बराबर बारिश नहीं हुई थी, जिसका मतलब है कि बारिश ज्यादा हुई, यह एक भौगोलिक परिघटना है.’

see also:- Solar Eclipse 2019 LIVE Stream: दुनिया के किसी भी कोने से ऐसे लाइव देखें सूर्य ग्रहण

Lalit Choudhary

I'm a content writer. I mainly write an article about Technology. I write the latest news about technology, movies, viral news on this website. Feel free to contact me on my social handles.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *